Yamunanagar : नगर निगम कमिश्नर और अन्य अधिकारियों द्वारा की गई कारवाई का मीट मार्किट के दुकानदारों ने किया विरोध  ....

बेचे पब्लिक के स्वास्थ्य का ध्यान रखते हुए। वही जब उनसे पूछा गया कि कुछ लोग आरोप लगा रहे हैं कि दुकानों के ताले तोड़े गए और वहां से सामान और बकरियां निकाली गई ।इस पर सीएसआई अनिल ने बताया कि जब वहां पर हमने दौरा किया था कुछ पशुओं को अंदर लॉक में रखा हुआ था ।ताले लगे हुए थे शटर बंद था वहां पर खाने की पानी की व्यवस्था भी नहीं थी इ।स कारण वहां से उनको मुक्त करवाया गया ।और उनको आगे के लिए चेतावनी भी दी है कि ऐसे पशुओं को बंद न रखें।

Yamunanagar : नगर निगम कमिश्नर और अन्य अधिकारियों द्वारा की गई कारवाई का मीट मार्किट के दुकानदारों ने किया विरोध  ....

यमुनानगर : नगर निगम कमिश्नर और अन्य अधिकारियों द्वारा की गई कारवाई का मीट मार्किट के दुकानदारों ने किया विरोध।दुकानदारों ने निगम अधिकारियों पर आरोप लगाते हुए कहा कि अधिकारियों ने हमारे बिना दुकानों के ताले तोड़े और सामान और बकरियां ले गए।जोकि सरासर गलत है ।वही निगम अधिकारी ने बताया कि उन दुकानों में पशु बंद थे बाहर ताले थे और पशुओं के लिए न तो खाना उपलब्ध था न ही पानी इसलिए उन्हें मुक्त करवाया गया  आपको बता दें कि कल नगर निगम कमिश्नर और नगर निगम के सेंटरी इंस्पेक्टर बाइक पर हेलमेट पहन शहर कई जगहों पर औचक निरीक्षण करने पहुंचे थे।इस दौरान निगम कमिश्नर ने मीट मार्किट में अन्य अधिकारियों और  के साथ औचक निरीक्षण किया गया था।लेकिन आज मीट मार्किट में दुकान करने वाले लोगो ने इस कारवाई का विरोध जताते हुए कहा कि कल मार्किट में छुटी थी और  लोग वहां नही थे फिर भी निगम की टीम ने 4 दुकानों के ताले तोड़े और कुछ सामान और बकरियां ले गए। नगर निगम में  कमिश्नर से बातचीत करने पहुंचे मीट मार्किट के दुकानदारों ने बताया कि मीट मार्केट चाय हुए दुकानदारों ने बताया कि कि कल हमारी छुट्टी थी और हम लोग व्यस्त थे ।दुकाने हमारी कल बंद थी निगम द्वारा हमारी दुकानों के ताले तोड़े गए और वहां से सामान भी निकाला गया ।निगम द्वारा जो कार्रवाई की गई है वह गलत है ।हम लोग निगम का किराया देते हैं ।बिना किसी वार्निंग के बिना कोई बात करें हमारी गैर हाजिरी में दुकानों के ताले तोड़े गए चार दुकानों के ।ताले तोड़े गए सेलेंडर और बकरी भी ले गए। इसी प्रकार से दूसरे दुकानदार ने बताया कि वह कल दुकान पर नहीं थे क्योंकि कल छुट्टी थी और किसी अधिकारी का फोन आया कि हम आपकी दुकान का ताला तोड़ रहे हैं दुकान का ताला तोड़कर बकरी लेकर चले गए सॉरी वहां पर वैसे दुकान नहीं है हमने दुकान किराए पर ली हुई थी और वहां पर बकरी रखी हुई है।एक दुकानदार ने कहा कि में शौच के लिए गया था दुकान का आधा शटर बन्द था। जब मैं वापस आया तो निगम के अधिकारी मेरी दुकान के अंदर चेकिंग कर रहे थे और मुझे कहा कि तुम बदतमीजी कर रहे हो तुम और मेरा चालान काट दिया गया जोकि सरासर गलत है। बिना मेरी परमिशन के मेरे दुकान का शटर उठाकर चेकिंग की गई। अभी अन्य दुकानदारों का भी यही कहना था कि बिना जानकारी बिना किसी वार्निंग के हमारी दुकानों में से ऐसे सामान निकालना बहुत ही गलत है ऐसे तो कोई भी हमारी दुकानों में चोरी कर लेगा।