नरेला औद्योगिक क्षेत्र स्थित जूता-चप्पल फैक्ट्री में आग बुझाते तीन दमकल कर्मी झुलसे .................

प्लास्टिक फैक्ट्री में लगी आग पर काबू पाने में दमकल विभाग द्वारा छत्तीस फायर टेंडर्स का प्रयोग किया गया। प्रवक्ता ने बताया कि दोपहर करीब एक बजे आग पर काबू पाया गया। आग लगने के कारणों का पता लगाया जा रहा है। दोनों घटनाओं में किसी जानी नुकसान की खबर नहीं है। स्थानीय पुलिस ने आग लगने के संबंध में मुकदमा दर्ज किया है।

नरेला औद्योगिक क्षेत्र स्थित जूता-चप्पल फैक्ट्री में आग बुझाते तीन दमकल कर्मी झुलसे .................

नरेला। नरेला औद्योगिक क्षेत्र स्थित दो कारखानों में मंगलवार तड़के आग लग गई। इनमें एक कारखाने में प्लास्टिक के जूते-चप्पल बनाए जाते थे जिसमें लगी आग को बुझाने में दमकल विभाग को आठ घंटे लगे। यहां लगी आग को काबू पाने में दमकल विभाग के तीन कर्मचारी भी झुलस गए। आग लगने की दूसरी घटना दोने-पत्तल बनाने वाले कारखाने में हुई।दिल्ली फायर सर्विस के प्रवक्ता ने बताया कि नरेला औद्योगिक क्षेत्र अंतर्गत सी-ब्लाॅक स्थित एक फैक्ट्री में आग लगने की सूचना मिली थी। करीब पौने चार बजे लगी इस आग को बुझाने में दमकलकर्मी जुटे हुए ही थे कि जे-ब्लाॅक स्थित जूूता-चप्पल बनाने की एक फैक्ट्री में विकराल आग लगने की सूचना मिली। यहां लगी आग पर काबू पाने के लिए एक के बाद एक करके छत्तीस फायर टेंडर्स को मौके पर भेजा गया।सी-ब्लाॅक स्थित फैक्ट्री में लगी आग पर आठ फायर टेंडर्स की सहायता से साढ़े छह बजे काबू पा लिया गया।प्रवक्ता ने बताया कि जे-ब्लाॅक स्थित फैक्ट्री में लगी पर काबू पाने के दौरान गैस सिलेंडर लीक होने से तीन दमकल कर्मी एसओ मदन, एफओ विकास तथा सोनू मामूली रूप से झुलस गए। तीनों को निकटवर्ती सत्यवादी राजा हरीश्चंद्र अस्पताल में भर्ती करवाया गया जहां प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें छुट्टी दे दी गई। तीनों को दो दिन के मेडिकल रेस्ट पर भेजा गया है।प्लास्टिक फैक्ट्री में लगी आग पर काबू पाने में दमकल विभाग द्वारा छत्तीस फायर टेंडर्स का प्रयोग किया गया। प्रवक्ता ने बताया कि दोपहर करीब एक बजे आग पर काबू पाया गया। आग लगने के कारणों का पता लगाया जा रहा है। दोनों घटनाओं में किसी जानी नुकसान की खबर नहीं है। स्थानीय पुलिस ने आग लगने के संबंध में मुकदमा दर्ज किया है।
-