नरेला के बांकनेर गांव में जापान ने किया वर्कशॉप का आयोजन

नदियों के पानी को साफ़ करने का ये सस्ता  आसान विकल्प लोगो को काफी पसंद आया।  इसे कोई भी व्यक्ति इनके कंपनी सेल्स के नंबर पर फ़ोन कर के या ईमेल भेज कर मंगवा सकता है।  फिलहाल कंपनी इस व्रक्षोप और ऐसे कुछ और प्रयोगो के बाद इसे मार्किट में उतारने की योजना बना रही है।  जससे ये आम जान को आसानी से उपलब्ध हो सके।

नरेला के बांकनेर गांव में जापान ने किया वर्कशॉप का आयोजन

 जापान के आई बिलीव कारपोरेशन लिमिटेड के वैज्ञानिकों का एक प्रतिनिधि मंडल दिल्ली देहात के बांकनेर गांव में जल समस्याओं पर अपने एक वर्कशॉप का आयोजन कर रहे हैं। जिसमें गंदे पानी को साफ कर के पीने योग्य बनाया जा सके । दिल्ली के घटते जमीनी जल स्तर में और पानी की भीषण समस्या के दौर में यह टेकनोलिजी काफी कारगर सिद्ध होने की उम्मीद हैं।  जापान की आई बिलीव नाम की कंपनी ने एक ऐसी मशीन बनाई है जो आज के आधुनिक आरो से ज्यादा कारगर और किफायती है।  दिल्ली में घटते हुए जल स्तर और बचे खुचे पानी के भी प्रदूषण स्तर को देखकर आज विशेषज्ञ यही कहते हैं ग्राउंड वाटर अब डायरेक्ट पीने लायक नहीं रह गया है। ऐसे में जापान की इस कंपनी ने गंदे तालाबों और नदी के पानी को शुद्ध करने का एक वैज्ञानिक विकल्प लोगो को बताया और एक वर्कशॉप का आयोजन किया ।
कंपनी से आये विशेषज्ञों ने लोगो के सामने तलाब के गंदे जल को शुद्ध कर के पीने लायक बना कर दिखाया।  इस मशीन की खासियत ये हैं की आरो  की तरह ये पानी मौजूद जरूरी मिनरल को खत्म नहीं करती । ये सिर्फ बैक्ट्रिया मारती है और गैर जरूरी चीजों को पानी से निकाल गाद के रूप में सतह पर जमा कर देती है।  इस गाद को बेहद उपजाऊ खाद के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है भारत के साथ जब पूरा विश्व पानी की समस्या से जूझ रहा है वैसे हालत में आस पास के जलाशय और नदियों के पानी को साफ़ करने का ये सस्ता  आसान विकल्प लोगो को काफी पसंद आया।  इसे कोई भी व्यक्ति इनके कंपनी सेल्स के नंबर पर फ़ोन कर के या ईमेल भेज कर मंगवा सकता है।  फिलहाल कंपनी इस व्रक्षोप और ऐसे कुछ और प्रयोगो के बाद इसे मार्किट में उतारने की योजना बना रही है।  जससे ये आम जान को आसानी से उपलब्ध हो सके।