मथुरा के एसकेएस ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन के बी ए एम एस के छात्र छात्राओं ने कॉलेज प्रशासन के खिलाफ कॉलेज के गेट पर जमकर किया धरना प्रदर्शन  ......

फ भी भोखला गया और पुलिस को भी बुला लिया गया और कॉलेज में मारपीट शुरू हो गई जिसमें दो तीन छात्राएं घायल हो गई घायलों को तुरंत छात्र अस्पताल ले गए जबकि बताया जा रहा है कि चेयरमैन के साथ कुछ अभद्रता बच्चो ने कर दी थी उसी को लेकर ये मारपीट हुई जबकि बच्चो का कहना है कि हमको बंधक बनाकर हमारे साथ मारपीट की है और आरोप भी लगाए कि ये बीजेपी के नेता हैं इसलिए प्रशासन भी इनका ही है अब हम कैसे नयाय मिलेगा जबकि चेयरमैन ने तीन दिन का वक्त मांगा है ।

मथुरा के एसकेएस ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन के बी ए एम एस के छात्र छात्राओं ने कॉलेज प्रशासन के खिलाफ कॉलेज के गेट पर जमकर किया धरना प्रदर्शन  ......

मथुरा के चोमुहा के समीप बने राष्ट्रीय राजमार्ग स्थित एसकेएस ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन के बी ए एम एस के छात्र छात्राओं ने कॉलेज प्रशासन के खिलाफ कॉलेज के गेट पर जमकर धरना प्रदर्शन किया।और कॉलेज प्रशासन पर मनमानी और दुर्व्यवहार के आरोप भी लगाए पुलिस ने मौके पर पहुंचकर  छात्र छात्राओं को समझा ने का प्रयास किया मगर छात्र एवम् छात्राएं सुनने को तैयार नहीं थे और कॉलेज के खिलाफ कार्यवाही चाहते दरअसल यह छात्र-छात्राएं वह हैजोकि बीएएमएस एसकेएस ग्रुप से कर रहे हैं मगर कॉलेज की पॉलिसी से आहत होकर यह लोग कॉलेज के खिलाफ नारेबाजी और धरना प्रदर्शन करके अपनी मांगों को पूरा करने के लिए और कॉलेज प्रशासन के रवैया के खिलाफ मजबूर होकर प्रदर्शन कर रहे हैं जबकि कई बार शिकायत करने के बाद भी इन लोगों की शिकायत को दूर नहीं किया गया है तो वही अपने परिजनों से बात करने पर उनको बात नहीं करने दी जाती है इसलिए छात्रों ने कॉलेज प्रशासन पर आरोप लगाया है कि वह पढ़ाई के नाम पर उनसे मोटी रकम बसूलता है। समय पर उनके एग्जाम नही कराए जाते हैं। दो साल में एक बार एग्जाम हुए हैं। उनमें भी फेल कर दिया गया है। इसके साथ ही छात्र छात्राएं अपनी कोई भी परेशानी लेकर कॉलेज प्रशासन के पास जाते हैं तो वो उन्हें फटकार लगाकर भगा देते हैं। छात्राओं ने आरोप लगाया कि होस्टल में रह रही छात्राओं को खाना भी एकदम घटिया क्वालिटी का  दिया जाता है। होस्टल की लाइट काट दी जाती हैं उनकी क्लासेज सुचारू रूप से संचालित कराने के लिए कोई भी अध्यापक नही रखा जाता है। जो कोई टीचर अच्छा पढ़ाता है, उसे ही भगा दिया जाता है बीएएमएस की छात्रा दिव्या सिंह ने बताया कि वह तीन साल से प्रथम वर्ष के छात्रों के ही साथ पढ़ रही है। तृतीय वर्ष की कोई भी क्लास यहाँ संचालित नही है जबकि जो फीस सरकार द्वारा निर्धारित की गई है उससे भी ज्यादा फीस दे रहे हैं फिर भी पड़ने के लिए कोई व्यवस्था नहीं है जबकि कॉलेज प्रशासन इन आरोप को गलत बता रहा है कि ऐसा नहीं है जबकि अगर ऐसा नहीं है तो सभी बच्चे क्यो आरोप लगा रहे है इससे साफ जाहिर होता है कि कही ना कही कॉलेज भी दोषी है जबकि बताया जाता है ये कॉलेज बीजेपी के नेता एस के शर्मा का है बच्चो के इस हंगामे के बाद चेयरमैन कॉलेज पहुंचे तो बच्चे अपनी शिकायत लेकर उग्र हो गए और चेयरमैन को सुनाने लगे जिससे और स्टाफ भी भोखला गया और पुलिस को भी बुला लिया गया और कॉलेज में मारपीट शुरू हो गई