सिरसा : कांग्रेस भवन में आयोजित कार्यकर्ता सम्मेलन को शैलजा कुमारी ने किया संबोधित  ...

उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी को संगठनात्मक तौर पर मजबूत करने का काम कर रहे हैं। इसी कड़ी में लगातार कार्यकर्ता बैठक आयोजित की जा रही है। बढ़ते अपराधिक डाटा पर भी उन्होंने चिंता जताई । उन्होंने कहा कि एनसीआरबी की रिपोर्ट में जो आंकड़े आएं हैं वे चोंकाने वाले हैं। शैलजा ने कहा कि निश्चित रूप से सरकार की गलत नीतियों के कारण ही अपराध बढ़ रहे हैं। इससे पहले कुमारी शैलजा ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि लगातार कांग्रेस भवन में कार्यक्रमों का आयोजन करें और जनता को कांग्रेस की नीतियों के बारे में जानकारी दें।

सिरसा : कांग्रेस भवन में आयोजित कार्यकर्ता सम्मेलन को शैलजा कुमारी ने किया संबोधित  ...

 सिरसा : कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष एवम राज्यसभा सदस्य कुमारी शैलजा आज सिरसा पहुंची। सिरसा के कांग्रेस भवन में आयोजित कार्यकर्ता सम्मेलन को शैलजा कुमारी ने संबोधित किया। कुमारी शैलजा ने जहां कार्यकर्ताओं से संगठन की मजबूती के लिए कार्य करने का आह्वान किया वहीं केंद्र और प्रदेश सरकार की नीतियों पर भी हमला बोला। सिरसा में पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्होंने मुख्यमंत्री व गृहमंत्री के बीच चल रहे सीआईडी विवाद पर तंज किया। उन्होंने कहा कि सीआईडी विवाद की भी सीआईडी होनी चाहिए। सीआईडी विवाद को सुर्खियों में क्यों रखा जा रहा है? कहीं यह जनता का ध्यान जरूरी मुद्दों से हटाने का प्रयास तो नहीं।  उन्होंने कहा कि दिल्ली विधानसभा चुनाव में कांग्रेस पूरी मेहनत कर रही है। जनता चाहेगी, उसकी दिल्ली होगी। दिल्ली में बी जे पी- जे जे पी के चुनावी गठबंधन को लेकर चल रही चर्चाओं पर भी शैलजा ने चुटकी ली। उन्होंने कहा कि बीजेपी बीजेपी के गठबंधन का मजाक बना हुआ है। दिल्ली भाजपा, जेजेपी का विरोध कर रही है जबकि हरियाणा वाले समर्थन कर रहे हैं।शिक्षा मंत्री कमर पाल गुर्जर के 25 विद्यार्थियों से कम दाखिले वाले स्कूलों को बंद करने के बयान को लेकर भी कुमारी शैलजा ने हमला बोला। उन्होंने कहा कि सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले गरीब बच्चों को सरकार शिक्षा से वंचित करना चाहती है। उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार गरीब बच्चों को निजी स्कूलों के रहमों करम पर छोड़ना चाहती है। कांग्रेस नेत्री ने दुष्यंत चौटाला के बयान पर भी पलटवार किया।उन्होंने कहा कि कांग्रेस को किसी से फोबिया नहीं है। कांग्रेस को केवल जन हितों की लड़ाई लड़ने का फोबिया है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के अध्यक्षीय कार्यकाल पर भी उन्होंने निशाना साधा। कुमारी शैलजा ने कहा कि अमित शाह का कार्यकाल देश को बांटने वाला रहा है। साथ ही समाज को बांटने का भी कार्य उनके कार्यकाल में हुआ। नागरिकता अधिनियम व एनआरसी के प्रावधानों को जनविरोधी बताते हुए उन्होंने कहा कि एनआरसी को लेकर सरकार की स्थिति भी स्पष्ट नहीं है। उन्होंने स्वीकारा कि एनपीआर कांग्रेस लेकर आई थी लेकिन सरकार ने समाज को बांटने के लिए इसमें नई बातें जोड़ दीं। गरीब वर्ग को भी इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा क्योंकि उनके पास भी अपनी पुरानी नागरिकता को लेकर कोई डाटा नहीं है। विशेष रूप से घुमंतू जातियों को लेकर दिक्कत निश्चित रूप से आएगी।  उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी को संगठनात्मक तौर पर मजबूत करने का काम कर रहे हैं। इसी कड़ी में लगातार कार्यकर्ता बैठक आयोजित की जा रही है। बढ़ते अपराधिक डाटा पर भी उन्होंने चिंता जताई । उन्होंने कहा कि एनसीआरबी की रिपोर्ट में जो आंकड़े आएं हैं वे चोंकाने वाले हैं। शैलजा ने कहा कि निश्चित रूप से सरकार की गलत नीतियों के कारण ही अपराध बढ़ रहे हैं। इससे पहले कुमारी शैलजा ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि लगातार कांग्रेस भवन में कार्यक्रमों का आयोजन करें और जनता को कांग्रेस की नीतियों के बारे में जानकारी दें।