फ़र्ज़ी दस्तावेज तैयार करने के मामले में गिरफ्तार लाडवा से इनेलो के पूर्व विधायक रहे शेर सिंह बड़शामी को रादौर पुलिस ने किया कोर्ट में पेश ............

फ़र्ज़ी दस्तावेज मामले में जहाँ पूर्व विधायक शेर सिंह बड़शामी को रादौर पुलिस ने गिरफ्तार किया।वही जेबीटी घोटाले में वारंट जारी होने के बाद पूर्व विधायक लाडवा चौधरी शेर सिंह बड़शामी को गिरफ्तार करने सीबीआई दिल्ली की टीम रादौर थाने पहुंची थी ।पूर्व विधायक को रादौर पुलिस ने रविवार की शाम को किया था 45 लाख के एक जमीनी खरीद फरोख्त के एक 3 साल पुराने धोखाधड़ी के मामले में गिरफ्तार।आज पुलिस की कड़ी निगरानी में उन्हें कोर्ट में पेश किया गया।जहाँ पुलिस ने पूर्व विधायक से ज़मीन मामले में रिकवरी करने के लिए दो दिन के रिमांड पर लिया

फ़र्ज़ी दस्तावेज तैयार करने के मामले में गिरफ्तार लाडवा से इनेलो के पूर्व विधायक रहे शेर सिंह बड़शामी को रादौर पुलिस ने किया कोर्ट में पेश ............

 45 लाख ज़मीन के फर्जी दस्तावेज तैयार कर बेचने के मामले में लाडवा से इनेलो के पूर्व विधायक रहे शेर सिंह बड़शामी को रादौर पुलिस ने आज कोर्ट में किया पेश।कोर्ट के आदेश के बाद एफआईआर हुई थी दर्ज।2009 में लाडवा से  इंडियन नैशनल लोकदल के विधायक रह चुके है बड़शामी।पूर्व मुख्यमंत्री ओ पी चौटाला के मीडिया एडवाइजर और चौटाला सरकार में एचपीएसी सदस्य रह चुके है बड़शामी।आज कोर्ट में पेश कर दो दिन के रिमांड पर लिया गया है ।पुलिस का कहना है ज़मीन के फ़र्ज़ी दस्तावेज बनाने के मामले में अब तक 40 हज़ार की  रिकवरी की जा चुकी है ।अब इनसे सभी दस्तावेज और 44 लाख 60 हज़ार की रिकवरी करनी है  इसके लिए कोर्ट से और दो दिन के पुलिस रिमांड पर लिया है।वही जेबीटी मामले में शेर सिंह बड़शामी के वारंट जारी होने के बाद आज दिल्ली से आई सीबीआई की टीम भी यमुनानगर कोर्ट में डटी रही।हम आपको बता दे कि ये है पूरा मामला जिसमे खुर्दबन गांव के निवासी कर्मवीर की जमीन के फर्जी दस्तावेज तैयार कर इकरारनामा बनवा लिया। इस जमीन को किसी ओर को बेचने का सौदा तय कर बयाना ले लिया। मामले का पता लगने पर उन्होंने कोर्ट में याचिका दायर कर दी। अब कोर्ट के आदेश पर इनेलो  से लाडवा के पूर्व विधायक रहे शेर सिंह बड़शामी, ईश्वर सिंह व गुरुग्राम के कटारिया मोहल्ला निवासी कर्म सिंह के खिलाफ केस दर्ज किया।कर्मवीर सिंह की  96 कनाल दस मरले हैं ज़मीन है ।दो जुलाई 2016 को उनकी इस जमीन का इकरारनामा तैयार कर शेर सिंह व ईश्वर सिंह ने कर्म सिंह से बयाना ले लिया। इसका पता लगने पर उन्होनें इन लोगो से बात की, तो वह धमकी देने लगे। इसी मामले में कोर्ट के आदेशों के बाद एफआईआर दर्ज हुई। एसएचओ रादौर गुरुदेव सिंह ने बताया कि आज शेर सिंह बड़शामी को कोर्ट में पेश किया गया था ।माननीय अदालत ने आज दो दिन का पुलिस रिमांड दिया।दो दिन पहले जो रिमांड लिया था उसमें हमने 40 हज़ार  की रिकवरी की आज फिर कोर्ट में पेश किया दो दिन के पुलिस  रिमांड पर लिया है ।अब गुरुग्राम से फ़र्ज़ी दस्तावेजो में इस्तेमाल हुईमोहरे ,नोटरी पावर ऑफ अटॉर्नी और 44 लाख 60 हज़ार रुपए रिकवर करने है।सहायक जिला अटॉर्नी अरुण  कुमार ने बताया कि मुकदमा नंबर 210 जो कि कर्मवीर की दरखास्त पर माननीय अदालत के निर्देशानुसार जो दर्ज हुआ।आज दो दिन के पुलिस रिमांड के बाद  शेर सिंह बड़शामी को कोर्ट में पेश किया गया।माननीय अदालत से फिर दो दिन का रिमांड मिला है ।हमने 7 दिन का रिमांड मांगा था ।अभी आरोपी से असली ,फ़र्ज़ी दस्तावेज मोहर ,बकाया जो राशि बची है उसे गुरुग्राम से रिकवर करने के लिए रिमांड मांगा ।