जींद : मौत के बाद डेथ सर्टिफिकेट जारी करने के सरकारी अस्पताल के कर्मचारी ने ली रिश्वत, वीडियो हुआ वायरल ....

15 दिन बीत जाने के बाद भी जब प्रमाण पत्र नही मिला मैने दोबारा पता करने की कोशिश की। जिसके बाद अस्प्ताल में कार्यरत एक क्लर्क ने मुझसे पैसे लेकर वो सर्टिफिकेट जारी कर दिए। इसके बाद जब मेरे पिता जी प्यारे लाल की मौत हुई तो दोबारा फिर रिश्वत की मांग की गई। मैंने उनसे गुजारिश करी की ऐसा जुल्म न किया

जींद  : मौत के बाद डेथ सर्टिफिकेट जारी करने के सरकारी अस्पताल के कर्मचारी ने ली रिश्वत, वीडियो हुआ वायरल ....

हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री के अधीन नागरिक अस्प्ताल में भ्रष्टाचार का मामला सामने आया है। जींद के नागरिक अस्प्ताल में कार्यरत एक क्लर्क द्वारा मौत का प्रमाण पत्र जारी करने की एवज में रिश्वत लेते हुए वीडियो वायरल हुआ है। वीडियो का मामला संज्ञान में आने के बाद शिव सर्जन ने डिप्टी सीएमओ को मामले जांच सौंप कर एक हफ्ते में रिपोर्ट देने के आदेश दिए है। हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई का हमेशा दम भरते रहते है लेकिन उनके अपने ही महकमे में एक अमानवीय कारनामा सामने आया है। वायरल वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि पीड़ित व्यक्ति से अस्प्ताल का क्लर्क पैसे लेकर जेब मे डाल रहा है और पिछली कुछ राशि बकाया होने की भी बात कह रहा है। पीड़ित व्यक्ति जब सर्टिफिकेट के असल होने की बात पूछता है तो क्लर्क उसे ओरिजिनल होने की गारंटी देता है। सुंदरपुर गांव के सुरेंद्र सिंह ने बताया कु उनकी दो बुवा की मौत के बाद डेथ सरल केंद्र से रशीद लेकर डेथ सर्टिफिकेट अप्लाई किया था। लेकिन 15 दिन बीत जाने के बाद भी जब प्रमाण पत्र नही मिला मैने दोबारा पता करने की कोशिश की। जिसके बाद अस्प्ताल में कार्यरत एक क्लर्क ने मुझसे पैसे लेकर वो सर्टिफिकेट जारी कर दिए। इसके बाद जब मेरे पिता जी प्यारे लाल की मौत हुई तो दोबारा फिर रिश्वत की मांग की गई। मैंने उनसे गुजारिश करी की ऐसा जुल्म न किया जाए पर मेरी एक नही सुनी और बिना पैसे के सर्टिफिकेट जारी करने से मना कर दिया।  इसके बाद मैंने आरोपी की वीडियो बनाया और सिविल सर्जन को शिकायत सौपी है लेकिन अभी तक कार्रवाई नही हुई।