बहादुरगढ़ में बदमाशों ने किया बाप बेटी पर कातिलाना हमला, बेटी की मौत

बहादुरगढ़ में बेखौफ बदमाशों ने मोटरसाइकिल सवार बाप-बेटी पर कातिलाना हमला किया है। इस हमले में बेटी की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं पिता गंभीर रूप से घायल हो गए। कार में सवार होकर आए बदमाशों ने ताबड़तोड़ गोलियां बरसा कर इस वारदात को अंजाम दिया और मौके से फरार हो गए।

बहादुरगढ़ में बदमाशों ने किया बाप बेटी पर कातिलाना हमला, बेटी की मौत

बहादुरगढ़ (योगिनेर सैनी) || बहादुरगढ़ में बेखौफ बदमाशों ने मोटरसाइकिल सवार बाप-बेटी पर कातिलाना हमला किया है। इस हमले में बेटी की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं पिता गंभीर रूप से घायल हो गए। कार में सवार होकर आए बदमाशों ने ताबड़तोड़ गोलियां बरसा कर इस वारदात को अंजाम दिया और मौके से फरार हो गए। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और मृतक बेटी के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सामान्य अस्पताल भिजवाया। वहीं घायल पिता को इलाज के लिए पीजीआई रोहतक भेजा गया।

मामला बहादुरगढ़ के छारा गांव का है। जहां उषा नाम की महिला अपने पिता ऋषि के साथ मोटरसाइकिल पर सवार होकर गांव के बस स्टैंड की तरफ आ रही थी। जब वे छारा- गिरावड रोड़ पर पहुंचे तो कार में सवार कई बदमाशों ने उनकी मोटरसाइकिल को रुकवाया और दोनों पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसानी शुरू कर दी। इस हमले में उषा की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं उसका पिता ऋषि गंभीर रूप से घायल हो गया। बताया जा रहा है कि उषा की शादी 5 साल पहले गुडगांव के बसई गांव में रहने वाले राजीव के साथ हुई थी।

उषा और राजीव का तलाक का केस कोर्ट में चल रहा है। ऊंचा पिछले कई साल से अपने पिता के पास ही रह रही थी। उसकी एक 3 साल की एक बेटी भी है और वह एक निजी स्कूल में बतौर खेल कोच के तौर पर काम कर रही थी। हमलावर कौन थे और हत्या के पीछे के कारण क्या है। इन सब बातों का खुलासा अभी नहीं हो पाया है। हालांकि पुलिस ने मौके पर मौजूद लोगों के बयान लिए हैं और साथ ही घायल पिता के बयान भी लिए जा रहे हैं। पुलिस इस मामले में कई पहलुओं को ध्यान में रखकर  जांच आगे बढ़ा रही हैं। डीएसपी अजायब सिंह का कहना है कि घटना की सूचना मिलते ही क्षेत्र के चारों तरफ नाकेबंदी करवा दी गई थी। जल्द ही आरोपियों की पहचान कर ली जाएगी और उन्हें सलाखों के पीछे भेजा जाएगा।