राधारानी नगरी में छाई लठामार होली और लड्डू होली की मस्ती

राधारानी की नगरी में छाई होली की मस्ती लठामार होली और लड्डू होली से  पूर्व श्री जी के धाम बरसाना में होली की धूम मच रही है यहां भक्त राधा रानी के दर्शन करने के बाद मंदिर परिसर में जमकर गुलाल की होली खेल रहे हैं भक्त होली के गीत गाकर गुलाल की मस्ती में मदमस्त होकर खूब ठिरक रहे हैं  लाडली जी के महल में श्रद्धालु होली की मस्ती में मदमस्त होकर नजर आए 

राधारानी नगरी में छाई लठामार होली और लड्डू होली की मस्ती

मथुरा (मदन सारस्वत) || बरसाना में जमकर उड़ा गुलाल होली के गीतों पर ठिरक रहे श्रद्धालु बरसाना में खेली जाती है सबसे पहले होली

राधारानी की नगरी में छाई होली की मस्ती लठामार होली और लड्डू होली से  पूर्व श्री जी के धाम बरसाना में होली की धूम मच रही है यहां भक्त राधा रानी के दर्शन करने के बाद मंदिर परिसर में जमकर गुलाल की होली खेल रहे हैं भक्त होली के गीत गाकर गुलाल की मस्ती में मदमस्त होकर खूब ठिरक रहे हैं  लाडली जी के महल में श्रद्धालु होली की मस्ती में मदमस्त होकर नजर आए 

इस दौरान श्रद्धालुओं ने एक-दूसरे पर गुलाल लगाने के साथ होली के रसिया भी गाये समूचे मंदिर परिसर राधे राधे के जयकारों से गुंजायमान हो रहा है बरसाना की हुरियारिनों ने भी लाठियों पर तेल लगाना शुरू कर दिया है

आपको बताते चलें कि समूचे विश्व में बरसाना की लठामार होली अपनी अनूठी ही पहचान के तौर पर जानी जाती है बरसाना की महिलाओं के हाथों में गुलाल की जगह लाठियां नजर आती हैं,यह लाठियां कोई लड़ाई या गुस्से के तौर पर नहीं चलाई जाती बल्कि राधाकृष्ण की द्वापर युग की लीला को आज भी जीवित रखने के लिए बरसाना और नंदगाव वाले आज भी यह परंपरा बखूबी निभा रहे हैं

लाठियों की मार को नंदगांव के हुरियारे हँसते हँसते सहन करते हैं

और आखिर में राधाकृष्ण के जयकारे लगाते हैं उसी तरह नंदगांव के हुरियारे खाल से बनी ढाल को भी तैयार करते हैं क्योंकि बरसाने की हुरियारिन नंदगांव के हुरियारों पर तेल से पगी हुईं लाठियां ढाल पर बरसाती हैं और हुरियारे प्यार से उनकी लाठियां की मार को गाते गाते ढाल पर रोकते है दूसरी तरफ पुलिस  द्वारा सुरक्षा को देखते हुए पुलिस की पूरी व्यवस्था की गई है जिस तरीके से राजपत्रित अधिकारी और पीएसी की व्यवस्था की गई है वही महिला कांस्टेबलों की भी तैनाती की गई है जिससे कि महिलाओं को असुविधा ना हो वहीं कुछ शिपाई सादा वर्दी में भी रहेंगे जिस तरीके से योगी आदित्यनाथ का प्रोग्राम बताया जा रहा है उसके आधार पर व्यवस्थाएं और दुरुस्त की जाएंगे  और ध्यान रखा जाएगा क्योंकि बाहर से आने वाले और होली खेलने वाले लोगों को किसी भी प्रकार की असुविधा ना हो