चरखी दादरी : कोरोना वायरस को लेकर स्वास्थ्य विभाग की विशेष नजर चीन से आया एक युवक का चैकअप शुरू .....

कार्यशाला में सभी स्वास्थ्य केंद्रों, प्राथमिक चिकित्सा केंद्र, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों के साथ-साथ नागरिक अस्पतालों के चिकित्सकों को प्रशिक्षण दिया गया। प्रशिक्षण प्रोजेक्टर के माध्यम से दिया गया। कार्यशाला के बाद डा. बिन्दु ने सभी स्वास्थ्य केंद्रों के अधिकारियों को निर्देश दिए कि चीन से आए यात्रियों की प्रतिदिन विशेष रूप से मॉनीटरिंग करें व आम जनता तक कोरोना वायरस से बचाव व जानकारी प्राथमिकता के आधार पर पहुंचाएं।

चरखी दादरी : कोरोना वायरस को लेकर स्वास्थ्य विभाग की विशेष नजर चीन से आया एक युवक का चैकअप शुरू .....

चरखी दादरी। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने चिकित्सा अधिकारियों को अपने क्षेत्र में कोरोना वायरस को लेकर विशेेष नजर रखने की सलाह दी है। साथ ही चीन से दादरी के एक गांव में पहुंचे एक युवक का विशेष रूप से चैकअप करने के लिए टीम भेजी गई। विभाग द्वारा आशंकित व्यक्ति का चैकअप शुरू कर दिया है और उसे अलग कमरे में रखा गया है। टीम द्वारा चिकित्सकों की कार्यशाला में कोरोना वायरस के प्रबंधों की समीक्षा की और जिला रेपिड रिस्पांस टीम को कोरोना वायरस से संबंधित टिप्स भी दिए।विश्व स्वास्थ्य संगठन पंचकूला की अधिकारी डा. बिन्दु ने सिविल अस्पताल में चिकित्सकों की बैठक कर उन्हें कोरोना वायरस के बारे में प्रशिक्षण दिया। इस दौरान उनको जानकारी मिली कि जिला के एक गांव निवासी चीन मेें एमबीबीएस कर रहा युवक अपने घर पहुंचा है। उन्होंने तुरंत जिला रेपिड रिस्पांस टीम को उसके घर भेजा और चैकअप शुरू किया गया। हालांकि जांच के लिए अभी कोई सेंपल नहीं लिया गया है, बावजूद इसके विभाग द्वारा उसे एक अलग कमरे में रखा गया है और लगातार जांच व चैकअप जारी है।कार्यशाला में डा. बिन्दु ने कहा कि इस वायरस से बचने के लिए सबसे पहले लोगों को जागरूक करना जरूरी है। बैठक में हर गांव, शहर व मोहल्ले में स्वास्थ्य विभाग की कार्यकर्ताओं, चिकित्सकों व स्टाफ नर्स को भेजकर कोरोना वायरस के बारे में जागरूकता अभियान चलाने के निर्देश दिए गए। जिले में फिलहाल कोई केस नहीं आया है, लेकिन इसके बारे में जागरूक होने की ज्यादा जरूरत है। जिस व्यक्ति को बुखार, खांसी, सांस लेने में दिक्कत, जुकाम हो उसकी जांच करवाना जरूरी है। जिला नोडल अधिकारी डा. चंचल तोमर ने बताया कि चीन से अपने घर आए व्यक्ति का विभाग द्वारा लगातार चैकअप किया जा रहा है। अभी कोई संक्रमित का मामला नहीं है, फिर भी विभाग द्वारा उसे अलग कमरे में रखा गया है और विशेष नजर है। वहीं स्वास्थ्य विभाग इस तरह के किसी भी संक्रमण से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है।कार्यशाला में सभी स्वास्थ्य केंद्रों, प्राथमिक चिकित्सा केंद्र, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों के साथ-साथ नागरिक अस्पतालों के चिकित्सकों को प्रशिक्षण दिया गया। प्रशिक्षण प्रोजेक्टर के माध्यम से दिया गया। कार्यशाला के बाद डा. बिन्दु ने सभी स्वास्थ्य केंद्रों के अधिकारियों को निर्देश दिए कि चीन से आए यात्रियों की प्रतिदिन विशेष रूप से मॉनीटरिंग करें व आम जनता तक कोरोना वायरस से बचाव व जानकारी प्राथमिकता के आधार पर पहुंचाएं।