अम्बाला  : गर्भवती महिला की हैरान कर देने वाली तस्वीर आई सामने ...

गर्भवती महिला को बस स्टैंड से अस्पताल भेजा गया। जिसके बाद उसे अंबाला छावनी के नागरिक अस्पताल में भर्ती कर लिया गया और उसका शुरू किया गया । लेकिन एम्बुलेंस को फोन करने के बावजूद भी एंबुलेंस मौके पर नहीं पहुंची तो इस मामले पर बात करते हुए पीएमओ सतीश कुमार ने बताया कि एम्बुलेंस नंबर 108 का कंट्रोल जिला प्रशासन के पास होता है लेकिन कई बार एम्बुलेंस कही और गई होती है तो समय लग जाता है।

अम्बाला  :  गर्भवती महिला की हैरान कर देने वाली तस्वीर आई सामने ...

अंबाला छावनी बस स्टैंड से आज हैरान कर देने वाली तस्वीरें सामने आई। जहाँ एक गर्भवती महिला प्रसव पीड़ा के कारण तड़पती रही लेकिन लोगों द्वारा फोन करने के बावजूद भी 20 से 25 मिनट तक एम्बुलेंस  मौके पर नहीं पहुंची। दर्द से तड़पती महिला की हालत देख जब लोग इक्क्ठा होने लगे तो बस स्टैंड पर मौजूद बस स्टैंड के इंचार्ज ने गर्भवती महिला को अपनी गाडी से अस्पताल पहुँचाया। ये तस्वीरें हैं अंबाला छावनी बस स्टैंड की , जहाँ लगभग आधे घंटे तक एक गर्भवती महिला पर्स पीड़ा से तड़पती रही , लेकिन एम्बुलेंस को फोन करने के बावजूद भी एम्बुलेंस मौके पर नहीं पहुंची। दर्द के कारण गर्भवती महिला वहीँ जमीन पर लेटकर तड़पने लगी तो महिला की हालत देख आस पास के लोग भी इकट्ठा होने शुरू हुए , जिसके बाद बस स्टैंड का स्टाफ भी मौके पर पहुँच गया। जिसके बाद महिला की हालत को देखकर बस स्टैंड इचार्ज ने अपनी गाडी बुलाकर महिला को अस्पताल पहुंचाया। गर्भवती महिला को बस स्टैंड से अस्पताल भेजा गया। जिसके बाद उसे अंबाला छावनी के नागरिक अस्पताल में भर्ती कर लिया गया और उसका शुरू किया गया । लेकिन एम्बुलेंस को फोन करने के बावजूद भी एंबुलेंस मौके पर नहीं पहुंची तो इस मामले पर बात करते हुए पीएमओ सतीश कुमार ने बताया कि एम्बुलेंस नंबर 108 का कंट्रोल जिला प्रशासन के पास होता है लेकिन कई बार एम्बुलेंस कही और गई होती है तो समय लग जाता है।  इस मामले में अगर बस स्टैंड के इंचार्ज संज्ञान न लेते गर्भवती महिला के साथ साथ उसके बच्चे की हालत भी बिगड़ सकती थी , लेकिन गनीमत रही कि उसे समय पर अस्पताल पहुंचा दिया गया जिसके बाद देर शाम उस महिला ने बच्ची को जन्म दिया।