छत्तीसगढ़ में नक्सली हमले में शहीद हुए जवानों को किसानों ने दी श्रद्धांजलि

जजपा द्वारा चरखी दादरी के रोज गार्डन में स्व. देवीलाल की पुण्यतिथि का कार्यक्रम सार्वजनिक रूप से मनाने की सूचना पर खाप, किसान व सामाजिक संगठन एकजुट हुए और काले झंडों के साथ विरोध करने पहुंचे। इस दौरान किसानों ने कहा कि किसान अगर सरकार के सार्वजनिक कार्यक्रमों का विरोध कर रहे हैं तो वे कार्यक्रम ही क्यों कर रहे हैं। अगर ऐसा ही रहा तो किसानों द्वारा विरोध जारी रखा जाएगा। किसानों के विरोध का देखते हुए जजपा द्वारा कार्यक्रम स्थगित करना पड़ा। बाद में किसानों ने छत्तीसगढ़ में नक्सली हमले में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि दी।

छत्तीसगढ़ में नक्सली हमले में शहीद हुए जवानों को किसानों ने दी श्रद्धांजलि

Charkhi Dadri (Pardeep Sahu) || चरखी दादरी के रोज गार्डन में जजपा द्वारा स्व. देवीलाल की पुण्यतिथि मनाने का कार्यक्रम आयोजित किया जाना था। किसानों को जैसे ही सरकार के सार्वजनिक कार्यक्रम की जानकारी मिली तो एकजुट होकर काले झंडों के साथ विरोध करने पहुंचे। फौगाट खाप प्रधान बलवंत नंबरदार की अगुवाई में रोज गार्डन में एकत्रित हुए और सरकार के कार्यक्रम का विरोध किया। किसानों ने काले झंडों के साथ सरकार के कार्यक्रमों का विरोध करते हुए कहा कि किसी भी सूरत में सरकार द्वारा सावर्जनिक कार्यक्रम नहीं होने देंगे।

इस दौरान किसानों ने छत्तीसगढ़ में नक्सली हमले में शहीद हुए जवानों को पुष्प अर्पित किए और दो मिनट का मौन रखते हुए श्रद्धांजलि दी।फौगाट खाप प्रधान बलवंत नंबरदार व किसान नेता राजू मान ने संयुक्त रूप से कहा कि गठबंधन सरकार द्वारा आपसी भाईचारे को खराब करने के लिए सावर्जनिक कार्यक्रम कर रही हैं। किसान सरकार से अपील भी कर रहे हैं कि भाईचारे को खराब करने की कोशिश ना करें। किसान सरकार की मंशा को किसी भी सूरत में कामयाब नहीं होने देंगे। किसानों ने कहा कि जजपा द्वारा स्व. देवीलाल की नीतियों का अनुसरण करने की बजाए जनता के साथ गद्दारी कर रहे हैं।