मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 114 कॉलोनियों में 500 करोड़ रुपए के प्रोजेक्ट का किया शिलान्यास

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने किराड़ी विधानसभा की करीब 114 कॉलोनियों में 500 करोड़ रुपए के प्रोजेक्ट का शिलान्यास किया जिसमें कि इन सभी 114 कॉलोनियों में सीवर की पाइप लाइन बिछाई जाएगी। जनता को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि मैंने आपसे चुनाव के समय यह वादा किया था और आज इस वादे को पूरा करने के लिए आया हूं |

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 114 कॉलोनियों में 500 करोड़ रुपए के प्रोजेक्ट का किया शिलान्यास

Delhi (Dev) || दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने किराड़ी विधानसभा की करीब 114 कॉलोनियों में 500 करोड़ रुपए के प्रोजेक्ट का शिलान्यास किया जिसमें कि इन सभी 114 कॉलोनियों में सीवर की पाइप लाइन बिछाई जाएगी।  जनता को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि मैंने आपसे चुनाव के समय यह वादा किया था और आज इस वादे को पूरा करने के लिए आया हूं.केजरीवाल ने कहा इस सिवर की समस्या को लेकर मैंने अपने अधिकारियों को निर्देश दिए थे कि यहां पर सीवर की लाइन डालनी है तो उन्होंने मुझसे कहा कि हमारे पास इस समय फंड की कमी है और इसमें तो करोड़ों रुपए का खर्चा है |

केजरीवाल ने कहा कि मैंने अपने अधिकारियों को निर्देश देकर कहा कि मुझे इस बारे में कुछ नहीं पता और आप कहीं से भी पैसे का इंतजाम कीजिए तो उन्होंने दिल्ली सरकार के चल रहे अलग-अलग प्रोजेक्ट में से कटौती की और जो पैसा बचा अब किराड़ी विधानसभा में लगेगा मैंने उनको कहा था कि मैं  किराड़ी के वासियों से वादा करके आया था अब बिना उसको पूरा किए कैसे उनको अपना मुंह दिखाऊंगा उन्होंने कहा कि 4 साल में यह प्रोजेक्ट पूरा हो जाएगा और किराड़ी वासियों को अब जलभराव की समस्या से जूझना नहीं पड़ेगा। आखिर में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने जनता से वादा किया कि जहां-जहां सीवर का काम होता जाएगा गलियां और सड़कें भी बनती जाएंगी पूरे किराड़ी विधानसभा में ऐसी कोई भी गलियां सड़क नहीं बचेगी जो बनी हुई ना हो पानी की पाइप लाइन का काम हम यहां पहले ही कर चुके हैं और अब जल्द ही पक्की सड़कें और सीवर भी यहां के लोगों को मिल जाएंगे | लेकिन अब देखने वाली बात यह होगी कि आखिर में यह प्रोजेक्ट 4 साल का एक लंबा समय है और कितनी जल्दी इसको पूरा किया जाता है यह हुई देखना होगा हालांकि दिल्ली सरकार ने कई ऐसे प्रोजेक्ट भी अपने गिनाए हैं जो कि कम समय में पूरे किए गए हैं और उनमें जो खर्चा या जो बजट था उसको भी बचाया गया है लेकिन देखना यह होगा कि क्या आने वाले विधानसभा चुनाव से पहले यह प्रोजेक्ट पूरा हो पाता है या नहीं।