नेशनल बॉक्सिंग चेम्पियनशिप में बवानीखेड़ा ने मारी बाजी...

बवानीखेड़ा के बाबा रामरूप एकेडमी में आयोजित तीन दिवशीय नेशनल बॉक्सिंग खेल आयोजन का आज समापन समारोह किया गया। इस दौरान खिलाडीयो को सिल्वर , गोल्ड और ब्रॉन्ज मेडल से सम्मानित किया गया और 17 राज्यो से आये खिलाड़ियों ने आयोजन में भाग ले अपने हुनर का दम दिखाया।

नेशनल बॉक्सिंग चेम्पियनशिप में बवानीखेड़ा ने मारी बाजी...
Bawanikheda (Sushil Kumar) || बवानीखेड़ा में तीन दिवशीय नेशनल बॉक्सिंग खेल प्रतियोगिता में 17 राज्यो से लगभग 350 बॉक्सिंग खिलाड़ियों ने भाग लिया और अपनी प्रतिभा का दम दिखाया। रविवार को अलग अलग टीमो के साथ हुए मुकाबले में फाइनल मैच में बवानीखेड़ा ने सफलता हासिल की और अपने शहर का नाम देश प्रदेश ऊँचा किया।

रविवार को समापन समारोह अवसर पर मुख्यातिथि पहुँचे मानवधिकार सुरक्षा संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवाजी राठौड़ ने विजेताओं को सिल्वर , गोल्ड और ब्रॉन्ज मेडल से नवाजा और उन्हें भविष्य में भी कठोर परिश्रम कर सफलता हासिल कर देश प्रदेश में अपने देश का नाम ऊँचा करने की शुभकामना दी। इस दौरान उनका कहना था कि ग्रामीण स्तर पर खिलाड़ियों में प्रतिभा देखने को मिलती है और ऐसे आयोजन का होना बेहद ही जरूरी है जिसमे भाग लेकर खिलाड़ी अपने कला का परदर्शन कर अपने प्रदेश का नाम देश विदेश में ऊँचा कर सके। इस मौके पर मानवधिकार सुरक्षा संगठन के प्रदेश अध्यक्ष का कहना था | ग्रामीण स्तर आयोजनों में भाग लेकर खिलाड़ी देश प्रदेश में अपने प्रदेश का नाम ऊँचा कर रहे है और इस प्रकार के आयोजनों में खिलाड़ियों को भी बढ़ चढ़कर भाग लेना चाहिए। इसके अलावा सरकार भी आज खेलो के प्रति जागरूकता और बढ़ावे को लेकर प्रयासरत है जिससे कि खेलो को बढ़ावा दिया जा सके। बवानीखेड़ा में आयोजित बॉक्सिंग प्रतियोगिता में 17 राज्यो से लगभग 350  खिलाड़ियों ने इसमे भाग लिया और अपनी कला का प्रदर्शन किया। इसके अलावा भी भिवानी शहर को मिनी क्यूबा के नाम से भी जाना जाता है और पहले भी भिवानी से खिलाड़ी अपनी मेहनत से अपने प्रदेश का नाम विदेशो में भी ऊँचा कर चुके है। इसके अलावा मानवाधिकार सुरक्षा संगठन शिक्षा और खेलो जैसी व्यवस्था से वंचित खिलड़ियों के लिए समय समय पर कदम उठा रहा है ताकि अन्य खिलाड़ियों को अपनी प्रतिभा और कला का प्रदर्शन करने का अवसर मिल सके !