आप नेता ने किसानों के समर्थन में राष्ट्रपति से इच्छा मृत्यु मांगी...

आम आदमी पार्टी के किसान सेल के संयोजक राकेश चांदवास ने कृषि कानूनों को लेकर आंदोलनरत किसानों के समर्थन में राष्ट्रपति से इच्छा मृत्यु मांगी है। एसडीएम बाढड़ा को उन्होंने राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा और राजघाट पर अपनी जान देने की बात कही। कहा कि कृषि कानूनों को लेकर कडक़ड़ाती ठंड में बैठे किसानों का दुख देखा नहीं जाता, ऐसे में वह किसानों के लिए अपनी जान देने के लिए तैयार है।

आप नेता ने किसानों के समर्थन में राष्ट्रपति से इच्छा मृत्यु मांगी...

Charkhi Dadri (Pardeep Sahu) || आम आदमी पार्टी के किसान सेल के संयोजक राकेश चांदवास ने कृषि कानूनों को लेकर आंदोलनरत किसानों के समर्थन में राष्ट्रपति से इच्छा मृत्यु मांगी है। एसडीएम बाढड़ा को उन्होंने राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा और राजघाट पर अपनी जान देने की बात कही। कहा कि कृषि कानूनों को लेकर कडक़ड़ाती ठंड में बैठे किसानों का दुख देखा नहीं जाता, ऐसे में वह किसानों के लिए अपनी जान देने के लिए तैयार है।

आप नेता ने राष्ट्रपति के नाम लिखे ज्ञापन में कहा कि जिस देश का लोकतंत्र खतरे में हो और जिस देश का अन्नदाता इस कड़ाके की ठंड में पूरे देश में जगह-जगह पर तीनों काले कानूनों को रद्द करवाने की मांग को लेकर बड़ा ही दुखी हो इस भयंकर परिस्थिति में मेरा जीने का मन नहीं कर रहा। इसलिए मुझे राष्ट्रपति से राजघाट पर मरने की इजाजत दिलवाई जाए। राकेश चांदवास ने एसडीएम शंभु राठी को सौपे ज्ञापन की प्रति आप नेता दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल और राज्यसभा सांसद सुशील गुप्ता को भी भेजी है।

आप नेता राकेश चांदवास ने बताया किसानों के समर्थन में दिल्ली के राजघाट पर इच्छा मृत्यु के लिए राष्ट्रपति को चिट्ठी लिखी है। क्योंकि सरकार कृषि कानूनों को रद्द नहीं कर रही और आंदोलनरत किसानों की लगातार मौतें हो रही हैं। ऐसे समय में उन्होंने किसान बेटा होने का दायित्व मानते हुए इच्छा मृत्यु मांगी है। साथ ही कहा कि भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सहित प्रदेश के कई सांसदों की कमेटी ने कृषि कानूनों को लागू करवाने अपनी भूमिका निभाते हुए किसानों के साथ छलावा किया है।